२५ सूत्री कार्यक्रम

सूत्र क्रमांक १ )

उत्तर भारतीय महासंघ के ज्वलंत विचारों ,कार्यक्रमों व उपलब्धियों से लोगों को अवगत कराएं |

सूत्र क्रमांक २ )

धर्म ,जाति ,वर्ण के भेदभाव को भुलाकर समाज के स्वाभिमान संस्कृति, शिक्षा व रोजगार की रक्षा हेतु महासंघ के सिपाही दृढ़ संकल्पित रहे वह अन्य समाज भाषा प्रांत के साथ समरसता व सहयोग बनाए रखें |

सूत्र क्रमांक ३ )

१५ दिन में एक बार गंभीरता तथा अनुशासन पूर्वक कार्य समिति की बैठक हो |

सूत्र क्रमांक ४ )

शाखा में नियमित रूप से कम से कम 2 घंटे बैठे |

सूत्र क्रमांक ५ )

कार्यक्रम निर्देशिका उपस्थिति पुस्तिका आय-व्यय अनुदान राशि व सदस्यता निशुल्क विवरण पुस्तिका सहित सदैव व्यवस्थित उपलब्ध रखें |

सूत्र क्रमांक ६ )

हर शाखा में एक शिकायत सुझाव पेटी रखी जाए |

सूत्र क्रमांक ७ )

सदस्य बनाना, हफ्ते में एक बार उत्तर भारतीयों से जाकर मिले और उन्हें सदस्य बनाकर संगठन से जुड़े |

सूत्र क्रमांक ८ )

प्रत्येक शाखा में कम से कम 1000 सदस्य बनाए जाएं, जिससे सभी पदाधिकारियों का सक्रिय सहयोग रहे |

सूत्र क्रमांक ९ )

सब्जी-फल विक्रेताओं तथा स्थानीय रिक्शा-टैक्सी वालों से मिलकर बैठक करना तथा उनसे संपर्क बनाए रखना |

सूत्र क्रमांक १० )

स्थानीय विद्यालय, महाविद्यालय, कोचिंग क्लासेस के उत्तर भारतीय अध्यापकों, विद्यार्थियों ,चिकित्सक ,अधिवक्ता ,व्यवसाय तथा अधिकारियों से संपर्क बनाएं |

सूत्र क्रमांक ११ )

प्रत्येक शाखा में तीन बोर्ड दो सूचना फलक रखे जाएं और वॉल पेंटिंग को प्रमुखता दें |

सूत्र क्रमांक १२ )

मात्र शाखा कार्यालय पर उत्तर भारतीय महासंघ के झंडे को स्थापित करें परंतु याद रखे संपूर्ण सम्मान के साथ |

सूत्र क्रमांक १३ )

हर तीसरे महीने चिकित्सा शिविर, रक्तदान ,कार्यकर्ता प्रशिक्षण शिविर, नेत्र चिकित्सा शिविर का आयोजन करें |

सूत्र क्रमांक १४ )

वर्ष में एक बार मुफ्त पुस्तक वितरण कार्यक्रम रखें |

सूत्र क्रमांक १५ )

झंडा वंदन व अन्य सामाजिक कार्यक्रमों में सक्रिय हिस्सा लें |

सूत्र क्रमांक १६ )

स्थानीय समस्याओं के लिए पुलिस स्टेशनों, मनपा में पत्राचार तथा नियमित भेंट करें

सूत्र क्रमांक १७ )

अपने समाज की समस्याओं से क्षेत्रीय नगरसेवक, विधायक, सांसद तथा प्रशासनिक अधिकारियों को अवगत कराएं |

सूत्र क्रमांक १८ )

ऐसे मेघावी छात्रों के लिए सुविधाएं मुहैया कराए जो शिक्षा जारी रखने में असमर्थ हैं |

सूत्र क्रमांक १९ )

शिक्षा में उत्कृष्ट स्थान प्राप्त करने पर विद्यार्थियों का सम्मान किया जाए |

सूत्र क्रमांक २० )

महिलाओं के सम्मान शिक्षा व जागृति प्रदान करने वाले कार्यक्रमों का आयोजन किया जाए |

सूत्र क्रमांक २१ )

वर्ष में एक बार स्थानीय स्तर पर वार्षिक सांस्कृतिक कार्यक्रम दिए जाने चाहिए जिसमें सभी सदस्य व पदाधिकारी क्षेत्र के सम्मानित व्यक्ति व मुख्य कार्यालय के नेताओं को आमंत्रित किया जाए |

सूत्र क्रमांक २२ )

जहां शाखाएं ,विभाग ,जिला स्थापित नहीं हुई है वहां स्थापित करने का प्रयत्न करें |

सूत्र क्रमांक २३ )

मुख्य कार्यालय से सतत संपर्क बनाए रखें |

सूत्र क्रमांक २४ )

मुख्य कार्यालय के पदाधिकारियों को हर तीसरे महीने क्षेत्र में बुलाकर समस्याओं से अवगत कराएं

सूत्र क्रमांक २५ )

उत्तर भारतीय महासंघ के मुख्य कार्यालय तथा शाखा कार्यालय द्वारा प्रायोजित कार्यक्रम में अनिवार्य रूप से सक्रिय पूर्वक उपस्थित रहें |